Tuesday, June 6, 2017

Call your Astrologer

CALL YOUR ASTROLOGER, NO CHARGE  FOR ONE QUESTION 

+91 8 8 6 6 0 2 0 0 2 5



Astrologer Ashutosh 

MAKE YOUR LIFE BETTER 


Saturday, April 29, 2017

!!! ASTROLOGY !!!! MY POINT OF VIEW !!!!

HELLO READERS 

!!!! MY POINT OF VIEW !!!!

By Astrologer Ashutosh 

Should we take Astrological Guidance to resolve our Problems in Life ?

Astrology is basically a scientific method of reading planets, positioned at the time of  birth.
Readers,  of planet-position in any horoscope are called Astrologers who are not only educated in Astro-subjects, they are also spiritually stronger and they get their sixth sense developed by meditation and sacred studies which they do for the welfare of People.

People do not trust Astrologers as such unless they come to know some surprising results from word-of-mouth. People do not want to pay astrologers as against Horoscope reading because they feel that either Astrologer should tell them about their life free of cost or may be he should take very nominal fee.



However, they don't even negotiate when they make payments to Hotels against Lunch or Dinner. Regular expenditure on Smoking, out side food, and Consuming Liquor is being done without giving any thought over it, although they all know that all these expenditure will lead to generate more diseases rather than adding any value in their life.  But People do spend money and that comes in thousands.

On the other hand, an Astrologer guides you for betterment of your life. People are facing numerous problems in various stages of life,  like, financial- issues, Health-issues, Family-issues, Marriage-issues, Children-issues, Relationship-issues etc, and among these issues, few issues are commonly being faced by all of us.

People are living with stress due to problems in life and getting sick if  their difficulties are unsolved. You can see many examples of committing suicides because all of them could not handle complications and got squinched and chosen wrong step.

Astrologers are savant to help and support  you and tell you about your present state of Planetary position as against Horoscope. Indeed Astrology is a deep-science and every Horoscope is made of different various Horoscopes of same person. Horoscope has one Ascendant Horoscope and based on this, there are few more Horoscopes created mathematically ( Earlier Astrologers used to do this Mathematics by hand but today this method is possible by Computer through many Software)




Astrologers normally go through all these inter-related horoscopes before they give you any guidance for resolving any problem. Apart from this Current planet position ( गोचर )  is also to be considered importantly. Present Mahadasha, Anterdasha, and Pratyanter, (महादशा, अंतर्दशा और प्रत्यांतर) also play vital role in our life cycle and a deep-read Astrologer can only understands these charts to tell present and future.

Referring to para-2 and 3 above, one should try to understand the time to be spent by an Astrologer and efforts required to achieve in analysing one Horoscope to reach closer to the life of a person (Called JATAK).  I am practising Astrology since 2009 and many of my clients have responded positively after they had taken my advise on resolving their problems. Means, they could get some relief on applying remedies as suggested to them. ( Astrological guidance can help between 50% and 70% maximum in extricating your complications in life).

Therefore, Readers of this Blog should decide now that spending little money on Astro-guidance is worth or not as it gives you relief from mental stress in your life. People should choose for Astro-guidance if they strongly believe in this Science and if they are spiritual by nature. Astrologers ask you to apply some natural ( सात्विक उपाय) processes to balance energy level and also to improve positive energy around you or may be in your house and result is always based on your trust and strong  belief in what you are doing. 

I conclude this article with an clear advise to all my readers that do not go blindly for any remedial process, and spend undue money, however, Astrological science is validated and Astrological guidance is advisable to resolve your problems. Pay full fee to Astrologer (with smile ) because Shastra says spending money on spiritual activities are well returned with multiplied profits, which can only be experienced. Finding appropriate Astrologer from large gathering is your discrimination. 

( Readers may google ज्योतिष शास्त्र क्या है ? and read first four articles to know in depth knowledge about Astrology ) 


****************************

CALL YOUR ASTROLOGER, NO CHARGE  FOR ONE QUESTION 


+91 8 8 6 6 0 2 0 0 2 5


ASTROLOGY AND VASTU - MAKE YOUR LIFE BETTER 

DEAR READERS,

Sorry, I was not on my Blogs since last few months. 

I am indeed, regularly reading, thinking and doing analysis on Astrology and vaastu Science and you would be happy to know that many of my clients are getting benefits and resolving their problems by applying most simple, plain, moral ( Satvik) and spiritual solutions ( Upaay )as being advised to them by me.

I am always available for all of you and from TODAY , any one of you,  can call me for 10 miniutes maximum for getting ANSWER  for only ONE QUESTION without any charges.

 One question can be answered by me for free and later if you need my further astrological advice, you need to pay first. 

SO, PLEASE KEEP READING MY BLOGS AND BE IN TOUCH -

Astrologer Ashutosh,

+918866020025 (w/app)
email- 
ashutosh2362@gmail.com

Fee for complete analysis of Horoscope - Rs 2100/-

Discussion for 10 mints for one question - No Charges

Discussion for more than 10 mints up to 30 mints max - Rs.500/- in Advance

Vaastu guidance for New House design - Rs.5000/- 
Vaastu Visit for 2-3 bed rooms Flats or House - Rs. 2100/- in Indore 
( For out side Indore actual travel expenses will also be charged)
For Vaastu tips on phone based on your present residence-map-Rs. 500/-





अक्षय तृतीया का महत्व क्यों है ?




यह चित्र ***SUMIT CREATION DOT COM*** से साभ्रार


अक्षय तृतीया का महत्व क्यों है ?
:: जानिए कुछ महत्वपुर्ण जानकारी ::

-🙏 आज  ही के दिन माँ गंगा का अवतरण धरती पर हुआ था ।

🙏-महर्षी परशुराम का जन्म आज ही के दिन हुआ था ।


🙏-माँ अन्नपूर्णा का जन्म भी आज ही के दिन हुआ था 


🙏-द्रोपदी को चीरहरण से कृष्ण ने आज ही के दिन बचाया था ।


🙏- कृष्ण और सुदामा का मिलन आज ही के दिन हुआ था ।

🙏- कुबेर को आज ही के दिन खजाना मिला था ।


🙏-सतयुग और त्रेता युग का प्रारम्भ आज ही के दिन हुआ था ।



🙏-ब्रह्मा जी के पुत्र अक्षय कुमार का अवतरण भी आज ही के दिन हुआ था ।


🙏- प्रसिद्ध तीर्थ स्थल श्री बद्री नारायण जी का कपाट आज ही के दिन खोला जाता है ।

🙏- बृंदावन के बाँके बिहारी मंदिर में साल में केवल आज ही के दिन श्री विग्रह चरण के दर्शन होते है अन्यथा साल भर वो बस्त्र से ढके रहते है ।


🙏- इसी दिन महाभारत का युद्ध समाप्त हुआ था ।


🙏- अक्षय तृतीया अपने आप में स्वयं सिद्ध मुहूर्त है कोई भी शुभ कार्य का प्रारम्भ किया जा सकता है


:: महर्षी परशुराम जयन्ती भी आज ही है ::

यह चित्र ***SUMIT CREATION DOT COM*** से साभ्रार

*!! श्री परशुराम स्तोत्रम: !!*

कराभ्यां परशुं चापं दधानं रेणुकात्मजं!
जामदग्न्यं भजे रामं भार्गवं क्षत्रियान्तकं!!१!!

नमामि भार्गवं रामं रेणुका चित्तनन्दनं!
मोचितंबार्तिमुत्पातनाशनं क्षत्रनाशनम्!!२!!

भयार्तस्वजनत्राणतत्परं धर्मतत्परम्!
गतगर्वप्रियं शूरं जमदग्निसुतं मतम्!!३!!

वशीकृतमहादेवं दृप्त भूप कुलान्तकम्!
तेजस्विनं कार्तवीर्यनाशनं भवनाशनम्!!४!!

परशुं दक्षिणे हस्ते वामे च दधतं धनुः !
रम्यं भृगुकुलोत्तंसं घनश्यामं मनोहरम्!!५!!

शुद्धं बुद्धं महाप्रज्ञापण्डितं रणपण्डितं!
रामं श्रीदत्तकरुणाभाजनं विप्ररंजनम्!!६!!

मार्गणाशोषिताभ्ध्यंशं पावनं चिरजीवनम्!
य एतानि जपेन्द्रामनामानि स कृति भवेत्!!७!!

*श्री वासुदेवानंदसरस्वती विरचितं श्री परशुराम स्तोत्रं!*💐

🙏🏼महर्षि परशुरामजी की जय🙏🏼


==============================================================
CALL YOUR ASTROLOGER, NO CHARGE  FOR ONE QUESTION 

+91 8 8 6 6 0 2 0 0 2 5


ASTROLOGY AND VASTU - MAKE YOUR LIFE BETTER 

DEAR VIEWERS 

Sorry, I was not on my Blogs since last few months. 

I am indeed, regularly reading, thinking and doing analysis on Astrology and vaastu Science and you would be happy to know that many of my clients are getting benefits and resolving their problems by applying most simple, plain, moral ( Satvik) and spiritual solutions ( Upaay )as being advised to them by me.

I am always available for all of you and from TODAY , any one of you,  can call me for 10 miniutes maximum for getting ANSWER  for only ONE QUESTION without any charges.

Indeed earlier, many clients contacted me on Mobile from various parts of the world, discussed about their problems, not once but frequently for months together. I always informed them about my fee, but never asked in advance as I trusted them as I am benevolent in nature. But 70% of these clients took full advantage, referred me too to their friends and relatives but did not pay and  I found them betrayers.

Therefore, One question can be answered by me for free and later if you need my further astrological advice, you need to pay first. 

SO, PLEASE KEEP READING MY BLOGS AND BE IN TOUCH -

Astrologer Ashutosh,

+918866020025 (w/app)
email- 
ashutosh2362@gmail.com

Fee for complete analysis of Horoscope - Rs 2100/-

Discussion for 10 mints for one question - No Charges

Discussion for more than 10 mints up to 30 mints max - Rs.500/- in Advance

Vaastu guidance for New House design - Rs.5000/- 
Vaastu Visit for 2-3 bed rooms Flats or House - Rs. 2100/- in Indore 
( For out side Indore actual travel expenses will also be charged)
For Vaastu tips on phone based on your present residence-map-Rs. 500/-


Monday, April 10, 2017

आज हनुमान जी का जन्मोत्सव है-अति दुर्लभ हनुमान मंगल कवच




मित्रों, आज हनुमान जी का जन्मोत्सव है और पंचांग के अनुसार बहुत ही शुभ योगों से युक्त दिन है ! ह्म यहां हनुमान जयंती शब्द का उपयोग नही करे, क्योकि हनुमान जी अमर है ! 

इस शुभ अवसर पर मै आपको अति दुर्लभ हनुमान मंगल कवच नीचे दे रहा हूँ जो अति सरल, और सुपठ्नीय है तथा इस पाठ को नित्य या मंगलवार के दिन तन्मयता के साथ करने से, भय, संकट दूर् हो जाते है और मंगल ग्रह यदि कुंडली में अशुभ है, तो उसकी अशुभता दूर् हो जाती है !

मेरे पास इस कवच की PDF FILE  है और भाई-बहन-भक्त PDF FILE चाहते है वे मुझे E MAIL कर सकते है मै भेज दूँगा !

ashutosh2362@gmail.com

shreepadgems@gmail.com

!! जय श्री राम !!  













Friday, March 24, 2017

CALL YOUR ASTROLOGER, - SAMPLE OF HOROSCOPE READING

CALL YOUR ASTROLOGER, NO CHARGE  FOR ONE QUESTION 

+91 8 8 6 6 0 2 0 0 2 5


ASTROLOGY AND VASTU - MAKE YOUR LIFE BETTER 

DEAR VIEWERS 

Sorry, I was not on my Blogs since last few months. 

I am indeed, regularly reading, thinking and doing analysis on Astrology and vaastu Science and you would be happy to know that many of my clients are getting benefits and resolving their problems by applying most simple, plain, moral ( Satvik) and spiritual solutions ( Upaay )as being advised to them by me.

I am always available for all of you and from TODAY , any one of you,  can call me for 10 miniutes maximum for getting ANSWER  for only ONE QUESTION without any charges.

Indeed earlier, many clients contacted me on Mobile from various parts of the world, discussed about their problems, not once but frequently for months together. I always informed them about my fee, but never asked in advance as I trusted them as I am benevolent in nature. But 70% of these clients took full advantage, referred me too to their friends and relatives but did not pay and  I found them betrayers.

Therefore, One question can be answered by me for free and later if you need my further astrological advice, you need to pay first. 

SO, PLEASE KEEP READING MY BLOGS AND BE IN TOUCH -

Astrologer Ashutosh,

+918866020025 (w/app)
email- 
ashutosh2362@gmail.com

Fee for complete analysis of Horoscope - Rs 2100/-

Discussion for 10 mints for one question - No Charges

Discussion for more than 10 mints up to 30 mints max - Rs.500/- in Advance

Vaastu guidance for New House design - Rs.5000/- 
Vaastu Visit for 2-3 bed rooms Flats or House - Rs. 2100/- in Indore 
( For out side Indore actual travel expenses will also be charged)
For Vaastu tips on phone based on your presend residence-map-Rs. 500/-



BELOW IS A SAMPLE OF ANALYSIS OF HOROSCOPE 


SHREEPAD ASTROLOGY
H O R O S C O P E                                                                      A N A L Y S I S
DATE –               15 -08-2016           

MR. PRAKHAR SAKALYE - DUBAI
DOB- XXXXX - TOB- XXXXPM / POB- XXX
तिथि- पू्र्णिमा  -शुक्ल- पक्ष / शुक्रवार / नक्षत्र-रेवती-2/ राशि-मीन / लग्न-मीन
महादशा - शुक्रअंतेर्दशा-बुध  

 !! श्री गणेशाय नमः !!

Astrologer Ashutosh
GH-82-SCHEME NO.54, VIJAY NAGAR, INDORE-PIN-452010
CALL-08866020025 / 08817576868
Horoscope analysis fee- Rs.2100/- per Horoscope
Delivery period of analysis report – One week


आशीष वचन
आदित्याद्दा ग्रहा: सर्वे सनक्षत्रा: सराशय: !
सर्वान कामान‍‍‍‍‍‍ प्रयच्छंतु यस्यैशा जन्मपत्रिका !!
समस्त नक्षत्रों एवं समस्त राशियों सहित सूर्य आदि सभी नवग्रह
जातक की सभी कामनाओं की पूर्ति करे, जिनकी यह पत्रिका है !
आपके जन्म-विवरण के अनुसार, लग्न-नवांश-तथा षोडश कुंडलीओ के अनुसार, ग्रहों की युतिमहादशा, अंतेर्दशा तथा प्रत्यांतर के अनुसार, संभावित विश्लेषण नीचे दिया गया है. प्रत्येक जातक के जीवन की शुभ-अशुभ परिस्थियाँ ग्रहों के गोचर के अनुसार बदलती रह्ती है, अतः अशुभ ग्रहों के  श्रध्दा-भक्ति-विश्वास के साथ सात्विक-उपाय करने से व्यक्ति को राहत मिलना निश्चित है. जीवन में सफलता का मुख्य कारण कर्म ही है, और कर्म करते हुए ही हम आने वाली कठिनाइयों को कैसे कम कर सकते है, ये ज्योतिषीय अध्यनन से पता चलता है ! नीचे दिए गए ज्योतिषीय उपाय पूरे विश्वास और भक्ति के साथ करने से निश्चित लाभ होगा.
व्यक्तित्व
  1.  राशि, लग्न, नक्षत्र और ग्रहों की कुंडली में स्थिति / युति  के अनुसारकुंडली में ऐसे कई योग है जो आपको चतुर, विद्वान, भाग्यशाली, साहसी, परोपकारी, धार्मिक, सहनशील, किन्तु क्रोधी भी, बनाते है तथा ग्रहों की युति विभिन्न भावों में उपस्थिति, आपसी दृष्टि आदि के कारण  धनवान, उच्च पदविदेश-यात्राये दर्शाते  है.

  1. रेवती नक्षत्र में जन्म होने के कारण संभवतः आप साह्सी, लोकप्रिय, सुंदर, धनवान, चतुर, पुत्र-मित्र युक्त, हो सकते है. किन्तु स्त्रियों से सम्मान-पूर्वक व्यवहार करे, माता-पिता-गुरु का आशीर्वाद आपके जीवन को सरल बनायेगा ! रेवती-नक्षत्र का स्वामी बुध-ग्रह है और इसका स्वभाव सात्विक है, यह छोटा-मूल- नक्षत्र है अतः जन्म के समय (जन्म के 27 दिन बाद) मूल- शांति की पूजा की जाती है. आपकी कुंडली में बुध अशुभ है अतः गणेश जी की पूजा लाभ देगी !

  1. पूर्णिमा में जन्म होने के कारण आप संकल्प पूरा करने के इच्छुक , सकारात्मक, धार्मिक, और परेशानियों से लड़ने में सक्षम हो सकते है !
  2. आपका  लग्न और राशि दोनों मीन है अतः आप लंबाई में औसत, कल्पनाशील, ईमानदार, उदार और दानी हो सकते है. मीन-राशि द्विस्वभाव राशि है अर्थात व्यक्ति निर्णय लेने में कभी कभी देर भी करते है, बार बार हां या ना की असमंजस स्थिति हो सकती है. अपने खान-पान को संतुलित रखना होगा वरना मोटापा हो सकता है. मीन लग्न आपको, नाट्य-कला, संगीत, कविता आदि में भी रूचि लेने वाला बनाता है. आप धनवान तो है किन्तु धन-संचय के लिए विशेष प्रयोजन आवश्यक होंगे मीन राशि वायु तत्व की राशि है, जिसका शरीर के पावो पर अधिकार होता है. सुर्य और मंगल इस राशि से मित्रता रखते है, और इस राशि के अन्य ग्रह भी सम है अर्थात कोई भी ग्रह शत्रु नही है.
  3. कुंडली में मंगल और शनि का राशि-परिवर्तन शुभ है. मंगल और शनि का राशि-परिवर्तन भी सह्मती या समहर्ता योग कहलाता है जो शुभ योग है और किसी संस्था में उच्च पद दिलवाने में मदद करेगा !
  4. सप्तम-याने पत्नी-स्थान पर चन्द्र की दृष्टि है अर्थात पत्नी सुंदर और शिक्षित होगी, किन्तु राहु की भी सीधी दृष्टि है अतः विवाह कुंडली-मिलान के बाद ही उचित है तथा भेली-विवाह भी करवाना उचित होगा, जो द्वि-भार्या दुर्योग को रोकेगा !
  5. पाश-योग - राहु-केतु को छोड़कर जब सात ग्रह किन्ही पाँच राशियों में स्थित होते है तो यह योग होता है. यह शुभ योग है तथा जातक को धनवान, सुशील और विचारक बनाता है.
  6. चन्द्र के एक भाव पहले शुभ-ग्रह गुरु है जो शुभ-अनफा योग बना रहा है. यह योग जातक को ज्ञानी और लेखक बना सकता है किन्तु कभी कभी जीवन में संघर्ष भी देता है. नव्मांश में मंगल और गुरु की शुभ युति आपको धनी और संगीत प्रिय बनाती है और आप समाज में आगे मान-सम्मान पा सकते है
  7. कुंडली में 6,7 और 8 भावों में यदि शुभ ग्रह हो तो शुभ अधियोग भी होता है. इस कुंडली में 8th  भाव में शुक्र और बुध है, और गुरु की दृष्टि भी है, अतः यहा इस योग का कुछ फल अवश्य मिलेगा. सूर्य भी साथ में है नीच का, किन्तु सूर्य को अषट्मस्थ होने का दोष नही लगता है.
  8. लग्नेश गुरु है अतः भोजन और नीँद का शौक हो सकता है. मोटापा होने से बचे. धनेश मंगल बहुत शुभ है. लाभ स्थान पर भी है, अतः, मंगलवार का उपवास और हनुमान जी की पूजा बहुत फलदायक रहेगी. आपको आपकी 28 वर्ष की उम्र के बाद धन-लाभ ज्यादा हुआ होगा. भाई से स्नेह् बना कर रखे, शादी के बाद, मकान,भूमि, वाहन आदि  का लाभ मिल सकेगा. पंचम भाव का स्वामी चन्द्रमा है अतः स्त्री-संतान भाग्य-शाली होगी. 6th भाव का स्वामी सूर्य है अतः, पिता का सम्मान करे, पारिवारिक विवादों से बचे. अष्टम स्थान का स्वामी शुक्र है अतः योंन रोगों से सावधान रहे , स्त्री से दूरी बनाए रखे. बुध भी  अष्टम स्थान पर है और चौथे भाव का स्वामी भी है अतः, वाहन आदि परिवहन के समय सतर्क रहना चाहियेदशमेश भी गुरु है अतः, पिता की सलाह और बड़े भाइयो के साथ व्यवसाय लाभदायक होगा !
  9. कुंडली के अशुभ ग्रहों के कारण / अशुभ दृष्टि और अशुभ योगों के कारण होने वाली अशुभता से बचने के लिए निम्न उपाय बहुत लाभदायक रहेंगे ---

(1) कुंडली-मिलान के बाद विवाह करना चाहिये. विवाह के पहले शुभ-मुहुर्त में भेली-विवाह भी करवाना चाहिये.
(2)- मंगलवार का उपवास और हनुमान जी ताउम्र पूजा करे तो लाभ होगा, स्त्रीयो और अवैध धन कमाने से बचे.
(3)- शादी के बाद किन्तु संतान उत्पति के पहले नाग-नागिन के जोड़े शिव-मन्दिर में अर्पित करना चाहिये, ( सात सोमवार तक, हर सोमवार बिना GAP दिए ) श्रावण के महीने में करे तो अतिउतम !! शिव पूजा और नवग्रह पूजा को अपनी रोज़ की पूजा में शामिल करे
(4) अमावस्या और पूर्णिमा को चावल की खीर रात्रि में गाय को खिला दे. ऐसा सात बार करे फिर बंद कर सकते है.
  1. आपकी लग्न कुंडली में चन्द्र को छोड़कर सभी शुभा-शुभ ग्रह केन्द्र स्थान के बाहर है, इसके अलावा 3 ग्रह ( सूर्य, बुध और शुक्र ) अशुभ स्थान अष्टम भाव में बैठे है. गुरु जो बहुत ही शुभ ग्रह होता है, 12 वे भाव में है और शास्त्रो के अनुसार अशुभ ही है. ऐसी स्थिति में हम नवग्रह मंत्र से नवग्रह-पूजा की सलाह देते है.
  2. इसके अलावा ये स्थिति शारीरिक और मानसिक रोगों से बचाव के लिए भी आपको सावधान करती है. रोगों में मुख्य रुप से नेत्र-रोग, विधुत , अग्नि भय (सूर्य से ) श्वास रोग, किडनी, गुप्तांगों के रोग, चर्म-रोग,  ( बुध और शुक्र से ) आदि से सावधान रहना चाहिये.
बुध चतुर्थेश और सप्त्मेश दोनों है अतः बुध के उपाय से माँ का स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा और
पत्नी का भी.
बुध का उपाय - बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा, और गाय को हरा चारा खाने को दे, हरी मूँग दाल गरीब को दान करे.
  1. अभी आपकी उम्र के अनुसार कुंडली में बताये गए बहुत सारे गुण, आने वाले समय में परिपक्व होने के बाद विकसित होंगे. ग्रहों के जाग्रत होने का समय अलग अलग उम्र के अनुसार होता है तथा गोचर में विचरण कर रहे ग्रहों का शुभाशुभ फल भी आने वाले समय में ही मिल पाता है!
  2. वर्तमान महादशा और अंतेर्दशा को देखते हुए स्वास्थ्य का ध्यान रखना चाहिये, विवादों से दूर् रहे, अनावश्यक क्रोध को टाले और ईश्वर में आस्था का पूर्ण लाभ ले.



जीवन में सरलता लाने हेतु निम्न बातों का ध्यान रखना लाभ-दायक रहेगा !
ये सलाह सभी के लिए है
  1. --(1) मंत्रओम वर् वरदाय विजय गणपत्ये नमः” की रोज़ एक माला- जाप आपको रोग और शत्रुओं से दूर् रखेगा. यह सिद्ध उपाय है.
(2) सुबह उठकर 3 बार गायत्री मंत्र का जाप करें फिर बिस्तर छोड़े.
(3)- तनाव से दूर् रहे, केवल वर्तमान का सोचे भूत को भुलाना चाहिये और भविष्य की कल्पना करना, केवल मन को दुखी करेगा. और लाभ कुछ नही होगा.   
(4) माता-पिता का सम्मान और पितरों को प्रणाम करना लाभ देगा. वाणी और व्यवहार की कुशलता जीवन को सरल बनायेगी और मंत्रों की शक्ति शत्रुओं को मित्र बना सकती है. शत्रु जब मित्र हो जाता है तो ज्यादा लाभ देता है.

  1. ज्योतिषीय- प्रयोग दान आदि के बारे में गुप्तता रखना चाहिये अन्यथा फल कम हो जाता है. ज्योतिषीय-सामान या दान की वस्तु खरीदते समय दुकानदार से मोल-भाव ना करें क्योकि ये लक्ष्मी की चंचलता को प्रभावित करेगा.

अपने जीवन को सरल बनाने के लिए हमे -------अपनी उर्जा को संतुलित करने की जरूरत होती है. यह संतुलन केवल सकारात्मक सोच, विचार और सकारात्मक मानसिकता के द्वारा ही किया जां सकता है. अर्थात परेशानी या समस्या को हम नकारात्मक विचारों के द्वारा ही आकर्षित करते है और हमे वही मिलता है जो हम आकर्षित करते है. इसलिए हमे सब अच्छा-अच्छा ही सोचना है और समस्या आए भी तो सोचते रहिये कि - ये जल्द ही चली जायेगी. खुश रहिये, प्रकृति के पास जाइये, पालतू जानवरों से बात करिये, दान करते रहिये, आपके पास जो है उसके लिए आप प्रकृति को रोज़ धन्यवाद दीजिये, ---------और आप पायेंगे कि आप हर हाल में खुश ही है
असीम शुभ कामनाओं के साथ

यह कुंडली-विश्लेषण, जातक की उपरोक्त जन्म-विवरण और शास्त्रों के अनुसार ग्रहों के स्थिति के अनुसार फल-कथन की अपौरुषेय व्याख्या के आधार पर करने का एक प्रयास है. अलग-अलग  ज्योतिष-विद्वानों की फल-कथन की विधि-व्याख्या या विवरण में भिन्नता,शास्त्रों के मतांतर तथा ज्ञान की असमानता के कारण संभव हो सकता है. पत्रिका-विवेचन में मानव-भूल संभव है,अतःहमे जरूर बताये.
Astrologer Ashutosh
GH-82-SCHEME NO.54, VIJAY NAGAR, INDORE-PIN-452010
CALL-08866020025 / 08817576868
Horoscope analysis fee- Rs.2100/- per Horoscope
Delivery period of analysis report – One week

 ==================================================================